चंडीगढ़शिक्षा
Breaking News

एमसीएम में मोती की खेती (पर्ल कल्चर) पर कार्यशाला

एस आई टी, न्यूज़ (विनय कुमार) चंडीगढ़ : मेहर चंद महाजन डीएवी कॉलेज फॉर वीमेन ने मोती की खेती (पर्ल कल्चर) पर राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान (रूसा) प्रायोजित कार्यशाला का आयोजन किया। कॉलेज के जूलॉजी विभाग द्वारा आयोजित आयोजित इस कार्यशाला ने लगभग पैंतीस छात्राओं ने उत्साहपूर्वक भाग लिया । गुरु अंगद देव पशु चिकित्सा और पशु विज्ञान विश्वविद्यालय, लुधियाना के कॉलेज ऑफ फिशरीज, एक्वाकल्चर विभाग से आये डॉ अभेद पांडे ने मीठे पानी के पर्ल कल्चर पर एक महत्वपूर्ण जानकारी प्रतिभागियों से साझा की एवं उन्हें व्यवहारिक प्रशिक्षण भी दिया। डॉ पांडे ने मोती सीप की खेती में शामिल तकनीकों का प्रदर्शन किया जिसमें आरोपण विधियों, पूर्व-संचालन कंडीशनिंग, शल्य चिकित्सा पद्धतियों, पोस्ट-ऑपरेटिव देखभाल, फ़ूड एन्ड फीडिंग इत्यादि शामिल थी । कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ निशा भार्गव ने जूलॉजी विभाग की इस पहल की सराहना करते हुए कहा कि वर्तमान समय में कौशल प्रशिक्षण के महत्व को ध्यान में रखते हुए, एमसीएम डीएवी कॉलेज छात्राओं के रोजगार कौशल को बढ़ाने के उद्देश्य से ऐसी कार्यशालाओं का आयोजन में निरंतर प्रयासरत है ।

Related Articles

Back to top button
Close